Saturday, June 29, 2019

बुजुर्गों में होने वाली मुख्य स्वास्थ समस्याएं। Top 5 Health Disease in Old age in hindi.

बुजुर्गों में होने वाली मुख्य बीमारियां:

बडी उम्र में बालों का झड़ना, झुर्रियाँ पड़ना, याददास्त जाना, कहाँ कार पार्क कर रहे थे भूल सकते हैं। एक तरफ जहां लोग मजाक करते हैं वहीं उम्र बढ़ने से कई तरह कि स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। भारत मे आबादी के 12 प्रतिशत के आसपास है लेकिन वरिष्ठ नागरिकों कि संख्या कुछ सालों बाद बढ़ेगी और लोगों के सामने आने वाली चुनौतियों को समझना महत्वपूर्ण है। साथ ही उन समस्याओं को समझने और उनसे निपटने के लिए जानकारी जरूरी है।

१) पुरानी बीमारी 


नेशनल काउंसिल ऑन एजिंग के अनुसार, लगभग 92 प्रतिशत वरिष्ठों को कम से कम एक पुरानी बीमारी है और 77 प्रतिशत को कम से कम दो हैं। हृदय रोग, स्ट्रोक, कैंसर, और मधुमेह सबसे आम और महंगी पुरानी स्वास्थ्य स्थितियों में से हैं, जिसके कारण हर साल दो तिहाई मौतें होती हैं। इन बीमारियों से बचाव के लिये कम से कम एक वार्षिक चेकअप जरूर कराए, स्वस्थ आहार बनाए रखने और पुरानी बीमारियों को रोकने में मदद करने के लिए व्यायाम करना चाहिए। 
मोटापा बुढापे में एक बढ़ती हुई समस्या है और स्वस्थ जीवन शैली और व्यायाम से इसका निवारण किया जा सकता है।

२) याददाश्त और भूलने कि समस्या


कमज़ोर याददाश्त व्यक्ति की सोचने, सीखने और याद रखने की क्षमता पर केंद्रित है। बुजुर्गों के सामने सबसे आम मुद्दा मनोभ्रंश है, जिसका कारण कमजोर याददाश्त है। दुनिया भर में लगभग 47.5 मिलियन लोगों को मनोभ्रंश है और इसकी संख्या में लगभग तीन गुना होने की भविष्यवाणी की गई है। 
पुरानी बीमारियों और मादक पदार्थों के सेवन से साथ ही धूम्रपान से यह बढ़ता है। हालांकि मनोभ्रंश के लिए कोई इलाज नहीं हैं, चिकित्सक बीमारी के रोकथाम के लिए कुछ दवाएं दे सकते है।


३) मानसिक स्वास्थ्य


विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, 60 वर्ष से अधिक आयु के 15 प्रतिशत वयस्क मानसिक विकार से पीड़ित हैं। वरिष्ठ लोगों में एक सामान्य मानसिक विकार अवसाद है, जो बुजुर्गों की आबादी के सात प्रतिशत में होता है। दुर्भाग्य से, इस मानसिक विकार को अक्सर कम करके आंका जाता है। 
स्वस्थ जीवनशैली की जीवन शैली को बढ़ावा देना जैसे कि रहने की स्थिति में सुधार और परिवार, दोस्तों या सहायता समूहों से सामाजिक समर्थन अवसाद का इलाज करने में मदद कर सकता है।


४) शारीरिक चोट


बुजुर्गों को आपातकाल में हॉस्पिटल में भर्ती करने का एक बहुत बड़ा कारण है कि गिर कर चोट आई है। गिरकर चोट लगने से वरिष्ठ नागरिक की मृत्यु हो जाती है और ये प्रमुख कारण बन जाता है। क्योंकि उम्र बढ़ने से हड्डियां सिकुड़ जाती हैं और मांसपेशियों में ताकत और लचीलापन कम हो जाता है, जिशसे सीनियर्स को अपना संतुलन खोने, चोट लगने और हड्डी टूटने की आशंका अधिक होती है। 
कई मामलों में, उन्हें शिक्षा के माध्यम से रोका जा सकता है, घर के भीतर शारीरिक गतिविधि और व्यावहारिक संशोधनों को बढ़ाया जा सकता है।


५)  कुपोषण


65 वर्ष से अधिक उम्र के वयस्कों में पोषण अक्सर कम हो जाता है और अन्य बुजुर्ग स्वास्थ्य मुद्दों को जन्म दे सकता है, जैसे कि कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली और मांसपेशियों की कमजोरी। कुपोषण के कई के कारण हो सकती है जैसे पीड़ित वरिष्ठ लोग खाना भूल सकते हैं, अवसाद, शराब, आहार प्रतिबंध, सामाजिक संपर्क कम और सीमित आय में कमी जैसे कई कारण हो सकते है। 
आहार में छोटे बदलाव, जैसे कि फलों और सब्जियों की बढ़ती खपत और कम वसा और नमक की खपत में कमी, बुजुर्गों में पोषण संबंधी मुद्दों में मदद कर सकते हैं।








0 comments:

Post a Comment