Sunday, March 10, 2019

चुकंदर के मुख्य पांच फायदे। Most Five Benefits of Beetroot in hindi.

चुकंदर Beetroot:



चुकंदर गहरे लाल रंग का पदार्थ होता है जिसकी जड़ का सेवन मुख्य रूप से सलाद या ज्यूस के रूप में किया जाता है। चुकंदर का स्तेमाल सब्जी के तौर पर भी होता है। इसमें मौजूद कई पोषक तत्व इसे खास बनाते है, और यह कई तरह की बीमारियों से लड़ने और बचाव में भी सहायक होता है। वैसे तो चुकंदर का उत्पादन सम्पूर्ण भारत मे होता है परंतु मध्य और उत्तर भारत मे ज्यादा होता है। भारत मे इसका अनेक भाषाओं में अलग अलग नाम होते है अतः इसके अंग्रेजी नाम बीटरूट का ज्यादा स्तेमाल होता है।

चुकंदर के सेवन से इन कुछ बीमारियों में फायदेमंद होता है:

१) खून में RBC कि कमी Anemia:

अनीमिया वह अवस्था है जब खून में RBC या हीमोग्लोबिन की कमी हो जाती है, जिसकी भरपाई के लिए आयरन युक्त प्रोटीन की अव्यसक्ता होती है, चुकंदर में इसकी मात्रा अधिक होती है अतः ये खून में हीमोग्लोबिन की कमी को दूर करता है। अतः थोड़ी थोड़ी मात्रा में चुकंदर के सेवन से अनीमिया को दूर किया जा सकता है।

२) मधुमेह  Diabetes

मधुमेह या डाईबेटिस की बीमारी शरीर मे इंसुलिन की कमी या खून के शुगर लेवल में असंतुलन के कारण होता है। चुकंदर में मौजूद फाइटोकैमिकल और अन्य तत्व मधुमेह को कम करने अर्थात ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदत करता है।
यह बीमारी सम्पूर्ण भारत मे तेजी से बढ़ रही है जो बहुत चिंताजनक है।

३) मजबूत पाचनतंत्र Strong Digestive System:

चुकंदर में मौजूद तत्व आंतों और लीवर को भोजन पचाने में मदत करता है। यह आंतों को मजबूत करता है और भोजन से पोषक तत्वों को अवशोषित करने में मदत करता है।

४) मोटापा या वजन घटाने में Reduce Obesity:

चुकंदर या बीटरूट मेटाबॉलिज्म को मजबूत करता है जिससे शरीर मे वसा का जमाव कम होता है। शरीर मे वसा के जमाव कम होने से मोटापा को कम करने में मदत करता है।

५) हृदय रोग को कम करता है Reduce Heart Disease:

चुकंदर का सेवन कोलेस्ट्रॉल को घटाता है जो हृदयघात का सबसे बड़ा कारण होता है। चुकंदर तनाव से होने वाले हृदय प्रभाव को रोकने में मदत करता है साथ ही रक्तचाप को नियंत्रित करने में भी मदत करता है।



0 comments:

Post a Comment