Thursday, January 3, 2019

ड़ेंगू: लक्षण और बचाव। Dengue Symptoms and causes.

ड़ेंगू : लक्षण और बचाव

डेंगू बुखार डेंगू नामक वायरस से इन्फेक्टेड मच्छर के काटने से होता है,  इस बीमारी के दौरान शरीर की प्लेटलेट्स कम हो जाती हैं। डेंगू एडीज नाम के मच्छर से फैलता है। हर साल मुख्य तौर पे ये बीमारी बरसात के महीने में ये बीमारी फैलती है, जिसमें हजारों लोगों की जान चली जाती है।


शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी गिरने लगती है, क्योंकि डेंगू होने पर शरीर के काम करने की गतिे धीमी पड़ जाती है, जिससे प्लेटलेट्स बनने की गतिी भी धीमी हो जाती है। डेंगू का मच्छर ज्यादातर दिन में काटता है और ये साफ पानी में फैलता है। मादा एडीज कूलर, ड्रम, टंकी और गमलों में इकट्ठे पानी में अंडे देती है, यहीं से डेंगू फैलता है।

डेंगू के लक्षण 

एडीज मच्छर के काटने के बाद डेंगू का वायरस शरीर में पहुंच जाता है। इस बीमारी का मुख्य लक्षण तेज बुखार होता है ईसके साथ साथ सिर दर्द, जोड़ों और मांसपेशियों मे भी दर्द होता है। शरीर पर लाल चकत्ते भी दिखाई पड़ते हैं।
इसके अलावा उल्टी, दस्त, पेट में दर्द, कमजोरी और भूख न लगना भी डेंगू के लक्षण हैं।

ड़ेंगू का इलाज:

ड़ेंगू जानलेवा बीमारी है इसलिए घरेलू उपाय या लोगो द्वारा कही जाने वाली चमत्कारी दवाओं या दावो के चक्कर मे न पड़कर उरन्त लक्षण पता चलने में अच्छे स्वास्थ्य केंद्र में जाये और डॉक्टर के द्वारा बताए दवाई का समय से डोज ले।
पानी ज्यादा पिये और प्लेटलेट्स की रेगुलर जांच करवाएं।

डेंगू से बचाव 

डेंगू से मुकाबला करना मुश्किल है और इसके वायरस के संक्रमण से बचाव रखना भी बेहद जरूरी है।

१) कूलर वगैरह का पानी वक्त पर बदलते रहें और कूलर साफ करें। जहां भी पानी इकट्ठा हो रहा हो उसमें मिट्टी का तेल  डाल दें ताकि अंडे विकसित न हो सकें।
२) गमलों में भी पानी इकट्ठा न होने दें। मिट्टी नम रखें बाकी पानी गिरा दें।
३) सोते समय मच्छर दानी का इसतेमाल करे।
४) बच्चो के मछरों से बचाव के लिए मॉस्किटो क्रीम का यूज़ करे।
५) ध्यान रखें कि घर में कहीं भी पानी इकट्ठा न हो। सफाई का खास खयाल रखें।
६) बर्तन धोने वाली जगह पर भी पानी न इकट्ठा होने दें। हो सके तो बर्तनों को उलटा करके रखें।

तो दोस्तो आपको ये जानकारी कैसी लगी अपने सुझाव दे। और शेयर करे।

0 comments:

Post a Comment