Thursday, January 17, 2019

पथरी (किडनी स्टोन) का आयुर्वेदिक इलाज। Ayurvedic Treatment of kidney Stones in Hindi.

पथरी की समस्या kidney Stones Problem in hindi. 

Pic From: Facebook page

किडनी स्टोन या पथरी की समश्या आमतौर पर असंतुलित खानपान कम मात्रा में पानी पीने से बढ़ती है इसकी मूल बजह नमक का दूसरे खनिज पदार्थो के साथ मिलने के कारण होता है। यह समान्यतः पेशाब के साथ निकल जाता है परंतु ये जब बड़ा हो जाता है और बड़े हो जाने पर बहुत सी परेशानियों सामना करना पड़ता है। पथरी कई तरह का होता है कुछ कैल्शियम ऑक्सलेट से होता है, कुछ यूरिक एसिड और संक्रमण से भी होता है। कुछ पुरानी बीमारियो के कारण भी पथरी की समस्या होती है।


पथरी (किडनी स्टोन) के लक्षण Symptoms of Kidney Stones. 

पेट के निचले हिस्से में और पीठ पर अचानक बहुत तीव्र दर्द होता है जो समय के साथ बढ़ता जाता है। इसमे लगातार या कुछ रुककर दर्द होता है दर्द में उतार चढ़ाव होता है दर्द का स्थान पथरी किस स्थान पर है इसपर निर्भर करता है।
पेसाब में कमी या जलन जैसी समश्याये हो सकती है, हो सकता है पेसाब रुक रुक कर होता है। खून या कुछ अलग तरह की गंध भी हो सकती है। पेसाब करने में कठिनाई होती है।

अगर इनमे से कुछ लक्षण होते है तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क करे।

पथरी से बचाव के तरीके Prevention of kidney Stones .


१) अधिक मात्रा में पानी पिये

ज्यादा पानी पिये ताकि जिन तत्वो के कारण पथरी होती है वो इकठ्ठा न हो पाए। शरीर को अशुद्धियो से मुक्ति करने में कारगर होता है। साथ ही फलों का जूस और नींबू पानी भी फायदेमंद होता है।

२) सौंफ का सेवन

सौफ बहुत कारगर होता है  सौंफ, मिश्री, सूखा धनिया  लेकर रात को पानी में भिगोकर रख दीजिए, इसे 24 घंटे के बाद छानकर पेस्‍ट बना लीजिए। इसके एक चम्‍मच पेस्‍ट में आधा कप ठंडा पानी मिलाकर पीने से पथरी पेशाब के रास्‍ते निकल जाता है।

३) अधिक मात्रा में प्रोटीन का सेवन न करे

किडनी स्टोन है तो अपने भोजन में प्रोटीन की मात्रा को संयमित कर लें. ऐसी स्थिति में अधिक मात्रा में मांस / मछली का सेवन करने से परहेज करें।

४) बेल पत्र उपयोग

बेल पत्र पर जरा सा पानी मिलाकर घिस लें, इसमें एक साबुत काली मिर्च डालकर सुबह खायें। दूसरे दिन काली मिर्च दो कर दें और तीसरे दिन तीन,  ऐसे सात दिनों तक लगातार इसका सेवन कीजिए। बाद में इसकी संख्‍या कम कीजिए, दो सप्ताह तक प्रयोग करे।

५) सोडियम और विटामिन सी का सेवन कम करें


भोजन में विटामिन सी और सोडियम की बहुत अधिक मात्रा होती है तो ये आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है.।जंक फूड, डिब्बा बंद खाना और नमक के बहुत अधिक सेवन से बचना चाहिए।

६) बाहरी खाद्य वस्तुओं और कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन न करे

बाहर का खाना बहुत हानिकारक हो सकता है साथ ही बाजार में मिलने वाले कोल्ड ड्रिंक का सेवन न करे , हो सके तो नींबू पानी या संतरे का जूस पिये।

सारांश Conclusion 

किडनी स्टोन घातक होता है और इसमें होने वाला दर्द भी असहनीय होता है, किसी भी स्थिति में इसे हल्के में मत ले । जल्द उपचारों से इसे कम किया जा सकता है नही तो ऑपरेशन करना पड़ता है।


तो दोस्तो आपको ये जानकारी कैसी लगी आप अपने सुझाव जरुर दे और शेयर करे।




0 comments:

Post a Comment