Wednesday, January 9, 2019

कब्ज का घरेलू एवं आयुर्वेदिक इलाज। Ayurvedic and Home Treatment of Constipation in Hindi.

कब्ज (Constipation):

कब्ज एक आम समस्या है जो दैनिक खानपान , असंतुलित जीवनशैली से मुख्यतः हो रहा है और भी बहुत से कारण है। कब्ज की अवस्था मे इंसान मल त्यागने में परेसानी होती है, जंहा सामान्य अवस्था मे एक या दो बार मल त्याग किया जाता है वंही कब्ज होने में कई दिन ठीक से पेट साफ नही होता। कब्ज कई तरह की पेट से जुड़ी हुई बीमारियों को जन्म देता है इसके अलावा पाईल्स, चर्मरोग, सरदर्द जैसी समस्याओं से भी जूझना पड़ता है। यह हर वर्ग और आयु के लोगो को प्रभावित कर रहा है जिससे इंसान ताजगी और आनंद का अनुभव नही कर पाता।

कब्ज के लक्षण Symtosym of Constipation:

१) दो से तीन दिन तक ठीक से पेट साफ न होना
२) मल का सूखा और कम निकलना
३) मल त्यागने में ज्यादा समय या जोर लगना
४) पेट मे मरोड़ या दर्द या गैस बनना
५) सर में या पैरो में दर्द रहना
६) उल्टी होना , जी मचलना
७) बदहजमी या एसिडिटी होना
८) पाईल्स की शिकायत होने

कब्ज के कारण Reasons of Constipation:

१) अनियमित खानपान
२) तली हुये भोजन का अधिक सेवन
३) व्यायाम में कमी
४) बिना पचे भोजन के बाद भी भोजन
५) कम मात्रा में पानी पीना
६) रसे वाले भोजन का कम खाना
७) मादक पदार्थो का सेवन
८) अधिक मात्रा में दावा का सेवन

कब्ज दूर करने का घरेलू उपाय Home Remedies of Constipation:

१) अधिक से अधिक पानी पीयें: सरीर में पानी की कमी से कब्ज होता है इसलिए 3-4 लीटर पानी अवस्य पिये।

२) नियमित व्यायाम करें: व्यायाम करने से पाचन क्रिया मजबूत होती है इसलिए नियमित व्यायाम करें।

३) खाने में रसेदार भोजन ले: रसेदार और कम मसालेदार भोजन आसानी से पचता है और पेट भी आसानी से साफ होता है इसलये रसेदार भोजन समयबद्ध तरीके से ले।

४) खाने के बाद ठंडा पानी न पिएं: ठंडा पानी पाचन क्रिया को कमजोर करता है जिससे भोजन पचाने में अधिक समय लगता है, इसलिए ठंडा पानी न पिएं। गर्मियों में मटके का पानी पिये।

५) सुबह खाली पेट गुनगुना पानी पीना: सुबह गुनगुना पानी पीने से आंतों में दबाव पड़ता है और पेट ठीक से साफ होता है, इसके अलावा बिना पचे हुए भोजन को भी आसानी से पचा जाता है।

६) सोने से पहले त्रिफला चूर्ण या इसबगोल ले: रात को सोने से पहले एक चमच्च त्रफल चूर्ण गुनगुने पानी मे घोल कर ले सुबह आसानी से पेट साफ हो जाता है।

७) खाने में सलाद, पपीता , अमरूद शामिल करें: ये सभी पदार्थ पाचक है इनके अलावा भी वो पदार्थ जो आसानी से पचते है और पाचन क्रिया को मजबूत करते है उनको खाने में शामिल करें।

८) दिन में नींबू पानी और रात में गर्म दूध ले।



तो दोस्तो आपको ये जानकारी कैसी लगी अपने सुझाव दे और शेयर करे।

0 comments:

Post a Comment