Friday, January 4, 2019

सर्दी जुखाम से बचने के घरेलू और आयुर्वेदिक उपाय। Ayurvedic and Home Remedies for Cold and Cough.

सर्दी जुखाम के कारण और बचाव:


अक्शर बदलता हुआ मौसम और ठंड का मौसम आपको बीमार करता है जिसमे सबसे ज्यादा सर्दी जुखाम होता है। यू तो ये आम है परंतु बच्चो और बुजुर्गो को ये घातक भी हो सकता है क्योंकि ये वाइरल इंफैक्शन है और ज्यादा होने पर फेफड़ो पर असर करता है और ज्यादा कफ होने पर स्वास नाली को ब्लॉक करता है।
आयुर्वेद में और हमारे घरों में बहुत से ऐसे आसान उपाय है जिसके स्तेमाल से सामान्य सर्दी जुखाम को आराम मिलता है।

१) तरल पदार्थ का सेवन: 

कोशिस करे कि ज्यादा से ज्यादा तरल पेय पिये, ये सरीर को डिहाइड्रेड रखने में मदत करता है। कभी कभी सर्दी जुखाम होने पर भूख कम लगती है या खाने में स्वाद नही आता इसलिए तरल भोजन या पेय शरीर मे जरूरी पोषण की पूर्ती करता है।

२) हर्बल काढ़ा या टी:

घरो में बनने वाला काढ़ा बहुत ही गुड़कारी और फायदेमंद है। दूध में हल्दी , सोंठ या अदरक , तुलसी की पत्तियों को उबाल कर पीने से बहुत फायदा मिलता है। या तुलसी अदरक की चाय भी पी सकते है।

३) जूस या सूप का इस्तेमाल:

फलों का जूस पिये इससे पोषण मोलता है और सब्जियों का सूप बहुत फायदा करता है। अगर आप नॉन वेजिटेरियन है तो चिकेन या मट्टन सूप पिये ये सरीर को गर्म और इम्युनिटी को बढ़ाता है।

४) अदरक और हल्दी:

अदरक और हल्दी बहुत ही कारगर है जिनमे मौजूद औसधीय गुन सभी परेशानियों से रक्षा करता है। अदरक के टुकड़ों को पानी मे उबालकर पीने से बहुत फायदा मिलता है। समान्यतः हल्का गर्म पानी पीयें ये गले को आराम देता है।

५) गर्म पानी का गार्गल या भाफ लेना:

नमक मिले हल्के गर्म पानी से गार्गल करे , और गर्म पानी का भाफ ले ये सर्दी में कफ की समश्या से आराम देगा । ज्यादा गर्म पानी न ले इसमे जलने के खतरे होते है।


तो दोस्तो आपको ये जानकारी कैसी लगी जरूर बताएं। और शेयर करे।

0 comments:

Post a Comment