Tuesday, January 1, 2019

एनीमिया: कारण , लक्षण और घरेलू उपाय। Home remedies for Anemia.

एनीमिया Anemia :

अपने सरीर में पर्याप्त खून का होना बहुत जरूरी होता है, खून में दो तरह के कोशिकाएं होती है लाल रक्त कोशिकाएं (red blood cells:RBC) और स्वेत रक्त कोशिकाएं (white  blood cells: WBC). जब खून में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी हो जाती है तो इसे एनीमिया(Anemia) या खून की कमी कहते है।
इसलिए जब भी लक्षण दिखाई दे या गर्भावस्था में नियमित रूप से खून की जांच करवाएं।

खून कि कमी के कारण:

१) आयरन की कमी: खून मुख्यतः लोह तत्व से बनता है इसलिए अगर सरीर में लौह तत्व की कमी होती है तो एनीमिया होता है।
२) फोलिक एसिड की कमी: यह महत्वपुर्ण मिनिरल है जिसकी कमी से एनीमिया होने का खतरा रहता है।
३) पेट मे इंफैक्शन होने के कारण भी एनीमिया होने का खतरा होता है।
४) पोषक तत्वो की कमी के कारण भी एनीमिया होता है , आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में ये बहुत बड़ा कारण है।
५) ब्लीडिंग होने के कारण : चोट या किसी और तरीके से अगर ज्यादा ब्लीडिंग होजाती है तो एनीमिया का खतरा होता है।

एनीमिया के लक्षण: 

सरीर में उचित मात्रा में खून का न होने से कमजोरी, चक्कर आना, नींद न आना, घबराहट, हाँथ पैर में दर्द या जलन , जल्दी थकावट होना, सरीर का पतला होना या फीका दिखना मुख्य लक्षण है। इसके अलावा भी बहुत सी परेशानिया हो सकती है।

खून की कमी को दूर करने के घरेलू उपाय:

१) पालक का सेवन: पालक में प्रचुर मात्रा में आयरन होता है, इसलिए पालक को सब्जी या जूस के तौर में इस्तेमाल करना चाहिए।
२) चुकंदर (beetroots) का जूस: चुकंदर बहुत लाभकारी होता है , इसका जूस पीने से एनीमिया को दूर किया जा सकता है।
३) भिगोई हुई किसमिस : किसमिस को रात में भिगो कर रखे सुबह इसका सेवन करने से जल्द एनीमिया से छुट्टी मिलेगी।
४) गाजर का जूस या सबूत खाने से बहुत फायदा होता है।
५) तिल के दानों को भिगोकर खाने से बहुत लाभ होता है।
६) सोयाबीन को भिगोकर या उबाल कर खाने से जल्दी लाभ होता है।

तो दोस्तो आपको ये जानकारी कैसी लगी हमे जरूर बताये, और शेयर करे।




0 comments:

Post a Comment